भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के सेनानियों को कैद में रखने के लिए अंडमान निकोबार द्वीप की राजधानी पोर्ट ब्लेयर में सेलुलर जेल बनाई गयी थी. जो की कालापानी के नाम से भी जानी जाती है. यंहा का जीवन नरक से भी गया गुजरा होता था यंहा पर स्वतंत्रता सेनानियों पर बहुत से जुल्म किये जाते थे . बॉलीवुड की क्वीन कंगना रनौत ने हालही में सेलुलर जेल का दौरा किया. जिसे देख कर कर कंगना हैरान हो गयी .कंगना ने वंहा जाकर क्या महसूस किया ये सब उन्होंने सोशल मिडिया के जरिये शेयर किया है .

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत ने मंगलवार को उस सेल का दौरा किया, जहां हिंदू महासभा के नेता विनायक दामोदर सावरकर को पोर्ट ब्लेयर, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में सेलुलर जेल में कैद किया गया था। कंगना ने सावरकर की कोठरी और जेल के अहाते की तस्वीरें इंस्टाग्राम पर साझा कीं और लिखा- यह कोठरी आजादी का सच है, न कि वो जो हमें किताबों में पढ़ाया जाता है। मैंने कोठरी में ध्यान लगाया और वीर सावरकर जी के प्रति अपनी कृतज्ञता और गहरा सम्मान जताया।

कंगना ने तस्वीरों के साथ एक लंबा नोट लिखा। कंगना ने लिखा- ‘आज अंडमान द्वीप के पोर्ट ब्लेयर में स्थित सेलुलर जेल में वीर सावरकर के कक्ष का दौरा किया। इस दौरान मैं पूरी तरह हिल गई। सावरकर जी के रूप में मानवता शीर्ष पर थी और आंखों में आंखें डालकर हर क्रूरता का मुकाबला प्रतिरोध और दृढ़ निश्चय से किया।

‘कंगना ने आगे लिखा- ‘उन दिनों उनका कितना डर रहा होगा कि न सिर्फ उन्हें काला पानी में रखा गया, बल्कि समंदर के बीचोंबीच इस छोटी-सी कोठरी से निकल भागना असम्भव रहा होगा, फिर भी जेल की मोटी दीवारों के बीच जंजीरो में जकड़कर रखा। अभिनेत्री ने कहा कि कल्पना कीजिए उस डर का कि अनंत समंदर के बीच कहीं हवा में गायब न हो जाएं। कितने कायर थे वो लोग।

कगना ने सावरकर के प्रति सम्मान जताते हुए लिखा- यह कोठरी आजादी का सच है, न कि वो जो हमें किताबों में पढ़ाया जाता है। मैंने कोठरी में ध्यान लगाया और वीर सावरकर जी के प्रति अपनी कृतज्ञता और गहरा सम्मान जताया। स्वतंत्रता संग्राम के इस सच्चे नायक को मेरा कोटि-कोटि नमन। जय हिंद’।

Leave a comment

Your email address will not be published.