दोस्तों एक कपल के बीच रिश्ता स्ट्रोंग होने के लिए उन दोनों के बीच प्यार, विशवास और रिस्पेक्ट होना बहुत जरूरी है .अगर इन तीनो में से कुछ भी कम हो तो इसका सीधा असर रिश्ते पर पड़ता है .इन सब के आलावा भी बहुत कुछ होता है जिसका असर कपल के रिश्ते और जीवन पर भी पड़ता है .वो जाति ,धर्म को लेकर सुनाई जाने वाली बाते . आजकल लड़के और लडकिया जाति ,धर्म अमीरी -गरीबी इन सब को नही मानते एक दुसरे से प्यार कर शादी भी कर लेते है. लेकिन शादी के बाद उन्हें बहुत सी समस्याओ का सामना करना पड़ता है जब परिवार वाले और रिश्तेदार उन्हें अपनाते नही है .आजकल लोगो ने ट्रेंड बना लिया है यदि लड़का और लड़की अलग अलग धर्म के है तो वो दोनों धर्मो के रीती रिवाजो अनुसार शादी करते है .लेकिन एक कपल ऐसा भी है जिसने ऐसा बिलकुल नही किया . अलग अलग धर्म के होने के बाद भी करीना कपूर और सैफ अली खान अच्छे लाइफ पार्टनर सिद्द हुए है जो सभी के लिए एक बहुत बड़ी प्रेरणा है

दरअसल, करीना और सैफ ने निकाह और सात फेरे न लेते हुए कोर्ट मैरिज की थी, जिससे वे अपना और दोनों धर्मों का सम्मान बरकरार रखने में कामयाब रहे। कोर्ट मैरिज के बाद दोनों ने एक-दूसरे को अंगूठी पहनाई थी और ग्रैंड रिसेप्शन दिया था। इस बात का खुलासा खुद बेबो के क्लोज फ्रेंड मनीष मल्होत्रा ने किया था। वहीं रणधीर कपूर ने कहा था, ‘मैं हर किसी से रिक्वेस्ट करूंगा कि वे करीना और सैफ को शादी की शुभकामनाएं दें। हम खुश हैं कि दोनों ने बिना किसी परिवर्तन के शादी की। यहां पर दो लवर्स ने शादी की है जो बहुत ही प्यारे लोग हैं।’अलग धर्मों के होने के बाद करीना और सैफ ने जिस तरह अपनी शादी को संपन्न किया, वह किसी मिसाल से कम नहीं। दोनों ने यह बताने में कोई कसर नहीं छोड़ी कि दिल के रिश्ते से बढ़ा कुछ नहीं होता है। आज सैफ और करीना दो बच्चों के माता-पिता बन चुके हैं और दोनों के स्ट्रॉन्ग बॉन्ड और ट्यूनिंग से हर कोई प्रेरणा लेता हुआ दिखाई देता है।

​पार्टनर्स के बीच बढ़िया साझेदारी से बनता है स्ट्रॉन्ग बॉन्ड

जब दो लोग मैरिड लाइफ में एंट्री करती हैं और पति-पत्नी का रिश्ता साझा करते हैं, तो उन्हें शादी के रीति-रिवाज को संपन्न करना होता है। समाज का यह नियम आपको एक रिश्ते में जरूर बांधता है, लेकिन इसे हेल्दी बनाए रखने लिए दो पार्टनर्स को इस पर काम करना पड़ता है। आपकी अपने पार्टनर के साथ कितनी अंडरस्टैंडिंग बन पा रही है, यह सबसे ज्यादा मायने रखता है। अगर पति-पत्नी के बीच साझेदारी में कमी होती है, तो उनके बीच मनमुटाव और लड़ाई-झगड़े बढ़ने लगते हैं, जो एक रिश्ते में तनाव पैदा करने के लिए काफी होते हैं।ऐसा होने पर भले ही आपने कितने भी रीति-रिवाज से शादी क्यों न की हो, लेकिन पार्टनर और आपके बीच दूरियां आनी शुरू हो जाती हैं। इसलिए इस बात को समझना जरूरी है कि अपने साथी के साथ रिश्ता मजबूत करने के लिए आपको अपने बीच कम्पैटिबिलिटी पर ध्यान देना होगा।

उम्र के अंतर से नहीं पड़ता प्यार पर फर्क

करीना और सैफ के बीच 10 साल की उम्र का अंतर है। हालांकि इसका असर उनके रिश्ते और प्यार पर नहीं पड़ पाया फिर भले ही समाज में आज भी पति-पत्नी के बीच उम्र के इतने बड़े अंतर को एक्सेप्ट नहीं जाता हो। आपको यह समझना होगा कि जब आप किसी से प्यार करते हैं और उस पार्टनर के साथ अपना जीवन बिताना चाहते हैं तो फिर धर्म और समाज जैसी चीजों को इग्नोर करना ही बेहतर रहता है। इसका असर आपके रिश्ते पर नहीं पड़ता है, अगर असल मायने में आप एक-दूसरे को प्यार करते हैं।

दोनों ने एक-दूसरे को किया एक्सेप्ट

करीना और सैफ दोनों ने ही शादी के बाद भी अपने-अपने धर्म को मानना नहीं छोड़ा बल्कि एक-दूसरे को पूरी तरह से एक्सेप्ट किया। यहां तक कि दोनों मिलकर सभी फेस्टिवल्स को सेलिब्रेट करते हैं। सैफ अक्सर करीना के घर पर पूरे परिवार के साथ होली और दीवाली जैसे त्योहार मनाते हुए नजर आ जाते हैं। तो वहीं करीना भी ईद पर बधाई देना नहीं भूलती। जिस तरह करीना और सैफ ने एक-दूसरे को बदलने की कोशिश न करते हुए पूरी तरह से कुबूल किया, वह दिखाता है सच्चे प्यार से बने हुए रिश्ते किस तरह से निभाए जाते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.