दोस्तों अपने देश के जीत की ख़ुशी किसको नहीं होती है और देश का हर एक नागरिक अपनी ख़ुशी को अपने अंदाज से बयां करता है लेकिन कुछ ऐसे भी लोग है जिनको अपने देश से ज्यादा दुश्मन देश की जीत की ख़ुशी होती है और वो अपनी खुसी जाहिर करते है ऐसे ही कुछ लोग है जैसे जोधपुर के पीपाड़ सिटी के रशीद अब्दुल उदयपुर की टीचर नफीसा अटारी की तरह उसने भी WhatsApp पर स्टेट्स लगा दिया, बाद में उसका यह स्टेट्स और चैट का स्क्रीन शॉट वायरल हो गया, मामले की लिखित शिकायत होने पर पुलिस ने रशीद को गिरफ्तार कर जेल भेजा और कोर्ट ने जमानत की अर्जी ख़ारिज कर दी आइये जानते है क्या है पूरा मामला….

दरअसल टी-20 वर्ल्ड कप में भारत की हार और पाकिस्तान की जीत से केवल उदयदपुर की टीचर नफीसा अटारी ही नहीं बल्कि और भी कई लोगों ने खुशियां मनाई है, उदयपुर के जैसा ही एक मामला जोधपुर में भी सामने आया है. यहां के युवक रशीद अब्दुल्ल ने भी पाकिस्तान की जीत के बाद इसे सेलिब्रेट करने वाला स्टेट्स लगाया. बाद में किसी के आपत्ति उठाने पर उसने कहा कि मैं आज बहुत खुश हूं. लेकिन उसका यह सेलिब्रेशन उस पर भारी पड़ गया. युवक के खिलाफ मामला दर्ज होने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया. बाद में कोर्ट ने भी उसे जमानत देने से इनकार करते हुये जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया है।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि यह मामला जोधपुर के पीपाड़ शहर से जुड़ा है. गत रविवार को टी-20 वर्ल्ड कप में हुये भारत-पाक के मैच में पाकिस्तान की जीत के बाद पीपाड़ शहर निवासी रशीद अब्दुल्ल ने अपने व्हाट्सएप स्टेट्स पर इस जीत की खुशी का इजहार किया. उसके स्टेट्स को टैग करके एक अन्य युवक ने पूछा… क्या हुआ खुशी क्यों मना रहे हो भारत हार गया इसलिए क्या ? इस पर रशीद अब्दुल ने जो जवाब दिया वह चौंकाने वाला था. उसने जवाब में लिखा कि हां…बहुत हैप्पी हूं….आज तो. उसके बाद सवाल पूछने वाले ने इसका जवाब दिया कि तो फिर यहां क्यों रहते हो …? आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर दोनों युवकों की हुई बातचीत का स्क्रीन शॉट बाद में वायरल हो गया तो पीपाड़ में इस मामले को लेकर लोगों में आक्रोश फैल गया. उसके बाद महेंद्र टाक नामक युवक ने पीपाड़ थाने में इसको लेकर एक परिवाद दिया. इस पर पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया. वहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया।

Leave a comment

Your email address will not be published.