अपनी खूबसूरती, मासूमियत,कॉमेडी और गज़ब डांस के चलते हिंदी सिनेमा जगत में अलग पहचान बनाने वाले अभिनेता गोविंदा का आज जन्मदिन है.कहा जाता है कि गोविंदा का इंडस्ट्री में कोई भी गॉड फ्रादर नहीं था, लेकिन खबरों की मानें तो बताया जाता है कि गोविंदा के माता-पिता का संबंध भी फिल्म इंडस्ट्री से था.तो चलिए आज आपको गोविंदा की जिंदगी से जुड़े कुछ ऐसे किस्से बताते हैं.जिन्हें जानकर आप गोविंदा और भी करीब से जानने लगेंगे

21 दिसंबर 1963 में गोविंदा का जन्म मुंबई में ही हुआ था.उनके पिता का नाम अरुण आहूजा था.जो कि पंजाब के गुजरांवाला के रहने वाले थे.उनके पिता भी फिल्म निर्माता थे.कहा जाता है कि गोविंदा के पिता महबूब खान के कहने पर ही पहली बार मुंबई आए थे.मुंबई आने के बाद उन्हें पहली बार एक्टिंग करने का मौका मिला.

गोविंदा की मां नज़ीम मुस्लिम घराने से ताल्लुक रखती थीं.गोविंदा की मां ने अरुण आहूजा संग विवाह करने के बाद धर्म परिवर्तन कर लिया था.जिसके बाद उन्होंने अपना नाम निर्मला देवी रख लिया ता.वह भी एक अदाकारा थीं.बताया जाता है कि गोविंदा के पिता ने अपनी लाइफ में एक ही फिल्म बनाई थी.फिल्म फ्लॉप हो जाने के कारण उन्हें काफी नुकसान हुआ था.जिसकी वजह से उनकी आर्थिक स्थिति भी काफी खराब हो चुकी है। तंगी से गुज़र रह अरूण बीमार भी रहने लगे थे.

आर्थिक तंगी से गुज़र रहे गोविंदा के पिता को आलीशन घर छोड़कर जाना पड़ा.उनका परिवार भी बहुत बड़ा था.उनके छह बच्चे थे.जिसमें से सबसे छोटे गोविंदा ही थे.खबरों की मानें तो बताया जाता है कि गोविंदा की अंग्रेजी ठीक ना होने के कारण उन्हें कहीं भी नौकरी नहीं मिलती थी.जिसकी वजह से उन्होंने बचपन से ही काफी संघर्ष भरी जिंदगी जी है.

बेशक आज गोविंदा को उनकी पत्नी सुनीता का ही नाम जपते हुए देखा जाता है,लेकिन एक दौर ऐसा था.जब गोविंदा का एक्ट्रेस नीलम कोठारी और रानी मुखर्जी संग भी जुड़ा था.बताया जाता है कि गोविंदा एक्ट्रेस नीलम के प्यार में पूरी तरह से दीवाने हो गए थे.वहीं फिल्म की शूटिंग के दौरान वह अभिनेत्री रानी मुखर्जी को भी अपना दिल दे बैठे.लेकिन गोविंदा कभी-कभी अपनी शादीशुदा जिंदगी को खराब नहीं करना चाहते थे। यही वजह थी कि उन्होंने नीलम और रानी से अलग होने का फैसला लिया था

Leave a comment

Your email address will not be published.