फिल्मों में काम न मिलने से अभिषेक हुए परेशान,घाटे में बेच डाला अपना बंगला

बॉलीवुड में अभिनेता अभिषेक बच्चन उन मेसे एक है जो फ़िल्मी दुनिया से बहुत पुराना रिश्ता है और अपनी अलग पहचान बनाने में काफी मेहनत कि है और अगर ऐश्वर्या राय बच्चन की बात की जाए तो किसी से कम नही है ओ आज भी बॉलीवुड में एक अलग पहचान रखती है ऐश्वर्या राय अभिषेक बच्चन बॉलीवुड में बेहतरीन कपल मने जाते है

दोनों कि बोल्डिग बहुत है और दोस्तों आइय हम आप कुछ खास बाते बताते है की अभिनेता अभिषेक बच्चन मुंबई में एक अपना आलीशान अपार्टमेंट 45-47 करोड़ रुपये में क्यों .. बॉलीवुड अभिनेता अभिषेक बच्चन ने मुंबई में एक अपना आलीशान अपार्टमेंट 45-47 करोड़ रुपये में बेच दिया है। मनी कंट्रोल की रिपोर्ट के मुताबिक, अभिनेता का अपार्टमेंट मुंबई के ओबेरॉय 360 वेस्ट में था जिसे उन्होंने बनाया था।

बता दें कि अभिषेक, ऐश्वर्या राय बच्चन और आराध्या अगर उस घर में रह रहे होते तो अक्षय कुमार और शाहिद कपूर के पड़ोसी होते। अभिनेता ने 2014 में 41 करोड़ रुपये में ये संपत्ति खरीदी

मनी कंट्रोल की रिपोर्ट में बताया गया है कि अभिषेक बच्चन का ओबेरॉय अपार्टमेंट 7,527 वर्ग फुट का था और 37वीं मंजिल पर स्थित था। इसमें आगे कहा गया है कि अक्षय कुमार ने ₹52.5 करोड़ भरे थे जबकि शाहिद ने अपने अपार्टमेंट के लिए ₹56 करोड़ दिए थे। आपको बता दें कि अभिषेक बच्चन आखिरी बार फिल्म द बिग बुल में नजर आए थे।

अभिनेता ने अपने अभियन के लिए प्रशंसा हासिल की थी। उन्होंने फिल्म में घोटालेबाज हर्षद मेहता की भूमिका निभाई थी। कूकी गुलाटी द्वारा निर्देशित, यह फिल्म 1992 के securities scam पर आधारित है। ऐसा कहा जाता है कि यह स्टॉक ब्रोकर हर्षद मेहता के जीवन और 1980 से 1990 तक 10 वर्षों की अवधि में वित्तीय अपराधों में उनकी उसमें होने पर आधारित है।

मुस्लिम बन गई थी गोविंदा की माँ साध्वी,गोविंदा के जन्म के बाद पिता ने अपनाने से करदिया था इंकार

अपनी खूबसूरती, मासूमियत,कॉमेडी और गज़ब डांस के चलते हिंदी सिनेमा जगत में अलग पहचान बनाने वाले अभिनेता गोविंदा का आज जन्मदिन है.कहा जाता है कि गोविंदा का इंडस्ट्री में कोई भी गॉड फ्रादर नहीं था, लेकिन खबरों की मानें तो बताया जाता है कि गोविंदा के माता-पिता का संबंध भी फिल्म इंडस्ट्री से था.तो चलिए आज आपको गोविंदा की जिंदगी से जुड़े कुछ ऐसे किस्से बताते हैं.जिन्हें जानकर आप गोविंदा और भी करीब से जानने लगेंगे

21 दिसंबर 1963 में गोविंदा का जन्म मुंबई में ही हुआ था.उनके पिता का नाम अरुण आहूजा था.जो कि पंजाब के गुजरांवाला के रहने वाले थे.उनके पिता भी फिल्म निर्माता थे.कहा जाता है कि गोविंदा के पिता महबूब खान के कहने पर ही पहली बार मुंबई आए थे.मुंबई आने के बाद उन्हें पहली बार एक्टिंग करने का मौका मिला.

गोविंदा की मां नज़ीम मुस्लिम घराने से ताल्लुक रखती थीं.गोविंदा की मां ने अरुण आहूजा संग विवाह करने के बाद धर्म परिवर्तन कर लिया था.जिसके बाद उन्होंने अपना नाम निर्मला देवी रख लिया ता.वह भी एक अदाकारा थीं.बताया जाता है कि गोविंदा के पिता ने अपनी लाइफ में एक ही फिल्म बनाई थी.फिल्म फ्लॉप हो जाने के कारण उन्हें काफी नुकसान हुआ था.जिसकी वजह से उनकी आर्थिक स्थिति भी काफी खराब हो चुकी है। तंगी से गुज़र रह अरूण बीमार भी रहने लगे थे.

आर्थिक तंगी से गुज़र रहे गोविंदा के पिता को आलीशन घर छोड़कर जाना पड़ा.उनका परिवार भी बहुत बड़ा था.उनके छह बच्चे थे.जिसमें से सबसे छोटे गोविंदा ही थे.खबरों की मानें तो बताया जाता है कि गोविंदा की अंग्रेजी ठीक ना होने के कारण उन्हें कहीं भी नौकरी नहीं मिलती थी.जिसकी वजह से उन्होंने बचपन से ही काफी संघर्ष भरी जिंदगी जी है.

बेशक आज गोविंदा को उनकी पत्नी सुनीता का ही नाम जपते हुए देखा जाता है,लेकिन एक दौर ऐसा था.जब गोविंदा का एक्ट्रेस नीलम कोठारी और रानी मुखर्जी संग भी जुड़ा था.बताया जाता है कि गोविंदा एक्ट्रेस नीलम के प्यार में पूरी तरह से दीवाने हो गए थे.वहीं फिल्म की शूटिंग के दौरान वह अभिनेत्री रानी मुखर्जी को भी अपना दिल दे बैठे.लेकिन गोविंदा कभी-कभी अपनी शादीशुदा जिंदगी को खराब नहीं करना चाहते थे। यही वजह थी कि उन्होंने नीलम और रानी से अलग होने का फैसला लिया था

दो बेटियों और पत्नी को छोड़कर प्रकाश राज ने रचाई थी बेटी की उम्र की लड़की संग दूसरी शादी ,देखें इनके परिवार की कुछ…

और इसी वजह से जब प्रकाश ने दूसरी शादी की थी तब इनकी है दूसरी शादी काफी अधिक सुर्खियों में भी आ गई थी| अपनी दूसरी शादी से प्रकाश चौथी बार 3 फरवरी, 2016 को पिता बने थे जब इनकी पत्नी नें बेटे वेदान्त को जन्म दिया था|

बॉलीवुड के साथ-साथ साउथ सिनेमा की फिल्मों में भी नजर आ चुके मशहूर अभिनेता प्रकाश राज आज किसी पहचान के मोहताज नहीं है|प्रकाश की बात करें तो इन्हें हिंदी फिल्मों में अधिकतर नेगेटिव रोल्स में देखा जाता है और इंडस्ट्री में एक दमदार विलेन के रूप में ये अपनी खास पहचान रखते हैं| प्रकाश के करियर की बात करें तो इन्होंने थिएटर के जरिए अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की थी जिसके बाद अपनी शानदार लुक्स और एक्टिंग के दम पर आज इन्होंने दर्शकों के बीच गजब की लोकप्रियता हासिल की|

बेंगलुरु में जन्मे प्रकाश राज को साउथ और बॉलीवुड के साथ-साथ कन्नड़ भाषा के कुछ सीरियल्स में भी अहम किरदारों को निभाते देखा गया है| इसके अलावा तमिल और मराठी इंडस्ट्री में भी इन्होंने थोड़ा वक्त गुजारा है| वहीं अगर इनके बॉलीवुड करियर पर नजर डाले तो इन्होंने अपने करियर में सिंघम, हिरोपंती, जंजीर, पुलिसगिरी और दबंग 2 जैसी शानदार फिल्मों में अहम किरदारों को निभाया है| साथ ही बताते चलें के उन्होंने साल 2009 में आई फिल्म वांटेड के जरिये बॉलीवुड में अपना सफल डेब्यू किया था|

लेकिन अपने करियर में इतनी कामयाबी हासिल करने वाले अभिनेता प्रकाश राज की असल जिंदगी काफी उतार-चढ़ाव भरी रही| प्रकाश राज की निजी जिंदगी पर नजर डालें तो तमिल एक्ट्रेस ललिता कुमारी संग साल 1994 में इन्होने शादी की थी| और इस शादी से प्रकाश 3 बच्चों के पिता भी बने थे जिनमें इनकी दो बेटियां मेघना और पूजा सहित एक बेटा सिद्धू शामिल है|

यहां तक सब कुछ सही चला लेकिन फिर साल 2004 इनकी जिंदगी में गमों के बादल के रूप में आया| इस साल इन्होंने अपने बेटे सिद्धू को महज 5 साल की उम्र में खो दिया| जिसके बारे में एक बातचीत के दौरान प्रकाश राज ने बताया था क्या अपने बेटे को उन्होंने अपने ही खेतों में अंतिम बार अग्नि दी थी| अपनी बेटियों को लेकर प्रकाश कहते हैं कि वो उन्हें बहुत क्या प्यार करते हैं पर बेटे की कमी आज भी कहीं ना कहीं उन्हें खलती है|

बेटे के जाने के बाद पत्नी और इनके रिश्ते में भी काफी बदलाव आए थे| गुजरते वक्त के साथ इन दोनों के रिश्ते में दूरियां भी आने लगी थी| इसके बाद रिश्ते को बचाने की काफी कोशिशों के बाद भी साल 2009 में प्रकाश और उनकी पत्नी ललिता अलग हो गए| इसके लगभग एक साल बाद यानि साल 2010 में प्रकाश राज ने पोनी वर्मा के साथ दूसरी शादी की| बता दें के पोनी वर्मा इंडस्ट्री में एक कोरियोग्राफर के रूप में अपनी पहचान रखती हैं|

बता दें के बेटे वेदांत के जन्म के वक्त प्रकाश राज की उम्र पूरे 50साल की और इसके बाद अब जाकर एक बार फिर से इनकी जिंदगी बीते कुछ सालों से पटरी पर लौट आई है|

शिवपाल ने समाजवादी पार्टी के लिए पुलिस से खाया था थप्पड़, बोरे में छिपे थे,बहु ने सालों बाद खोला राज

दोस्तों अपर्णा यादव राजनेता और सामाजिक कार्यकर्ता हैं.अपर्णा यादव पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की बहु और प्रतीक यादव की पत्नी है . अपर्णा यादव एक संगठन चलाती है है जिसका नाम baware है .और अपर्णा महिलाओ के अधिकारों और सशक्तिकरण के लिए कार्य करती है . मुलायम सिंह यादव के परिवार में सभी लोग राजनीती में है .अपने हाजिर जवाब होने के हुनर की वजह से अपर्णा हमेशा चर्चाओ में रहती है .एक बार फिर अपर्णा अपने बयानों की वजह से सुर्खियों में आ गयी है .एक इंटरव्यू के दौरान अपर्णा ने परिवार और पार्टी को लेकर बहुत कुछ बताया .

एबीपी न्यूज़ के साथ बातचीत में उन्होंने बताया कि उनकी अखिलेश और मुलायम दोनों से बात होती है। पिछले कुछ समय से मुलायम की तबीयत ठीक नहीं है इसलिए उनसे बातें कम हो रही हैं।उन्होंने कहा कि वो आगामी विधानसभा चुनाव में प्रत्याशी बनना चाहती हैं। लेकिन इसका फैसला मुलायम और अखिलेश ही करेंगे। उन्होंने कहा कि अब तक टिकट को लेकर अखिलेश यादव से उनकी कोई बात नहीं हुई है।

अखिलेश और शिवपाल का गठबंधन – सपा और शिवपाल यादव की पार्टी के गठबंधन को लेकर अपर्णा ने कहा कि मैं चाहती हूं कि दोनों एक होकर चुनाव लड़ें। अपर्णा ने कहा, शिवपाल यादव समाजवादी पार्टी के लिए रीढ़ की हड्डी की तरह थे। अगर वह सपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ते हैं तो पार्टी को निश्चित रूप से फायदा होगा।

अपर्णा ने बताया कि शिवपाल हमेशा मुलायम के साथ खड़े रहे। एक बार वह बचने के लिए बोरे में छिप गए थे और लाठियां खाईं थीं। यहां तक कि एक पुलिस इंस्पेक्टर ने उन्हें एक बार थप्पड़ मार दिया था। उन्होंने पार्टी के लिए बहुत संघर्ष किए हैं। लेकिन अखिलेश यादव की इच्छा पर ही गठबंधन का फैसला होगा।

क्या अपर्णा बनेंगी दोनों नेताओं को मिलाने की धुरी? – अपर्णा ने कहा कि मैंने दोनों लोगों को मिलाने की कोशिश की है, लेकिन उन्हें ही इसका भुक्तभोगी बनना पड़ा। उन्होंने कहा कि विधान सभा चुनाव 2017 में उन पर गलत टिप्पणी की गई थी, जिससे बेहद ठेस पहुंची थी। उस चुनाव ने बहुत कुछ सिखाया भी है। बकौल अपर्णा, मैं पिछला चुनाव जीत सकती थी लेकिन पार्टी के बीच हुए बिखराव के कारण मुझे हार का सामना करना पड़ा था।

गौरतलब है कि शिवपाल यादव ने हाल में ही दिए गये एक इंटरव्यू में कहा कि राजनीति में संभावनाएं कभी खत्म नहीं होती। हमारा यह प्रयास है और हमारी प्राथमिकता भी है समाजवादी पार्टी से गठबंधन हो । वहीं सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने चाचा से गठबंधन को लेकर साफ तौर पर कुछ नहीं कहा है।

अमिताभ बच्चन के इन 3 शब्दों के कारण बर्बाद हो गए थे मुकेश खन्ना, सालों बाद सामने आया सच..

मित्रों हमारी टेलीवीजन की इस दुनिया में कई सारे अभिनेता व अभिनेत्रियों ने हमारे मनोरजन के लिये कई सारे धारावाहिक व फिल्मों में बाखूबी अपने जलवों से हम सभी को कायल कर दिया है। वहीं अगर बात की जाये बच्चों के सुपर हीरो की तो सबसे पहले बच्चों की जुबां पर शक्तिमान का नाम आत है। आपको बता दें कि टीवी इंडस्ट्री में मुकेश खन्ना एक जाने माने अभिनेताओं में से एक है। क्योंकि बच्चे जब भी मुकेश खन्ना को देखते है तो उनके किरदार शक्तिमान की छवि बच्चों के नज़रों के सामने आती है, वहीं बड़े बुजुर्ग जब नाम लेते है तो महाभारत के भीष्म का रोल सबसे पहले नजर आता है। इसी क्रम में आज हम मुकेश खन्ना के एक ऐसे अनसुने किस्से के संबंध में बताने वाले है, जिसके संबंध में सायद ही किसी को बता होगा। 

दरअसल बॉलीवुड में एंट्री करने के बाद मुकेश खन्ना ने 10 से 12 फिल्मो में काम करके अच्छी खासी पहचान बना ली थी.इसके चलते उन्हें कई विज्ञापनों में काम भी मिला था. उनकी ऐड काफी फेमस हो गयी थी जिसको लेकर बाद में बहुत बड़ा बबाल मचा था. मुकेश खन्ना ने एक ऐड में काम किया था जिसमे वे सीढियों से नीचे उतर रहे होते है और उनके चारो तरफ लडकियाँ होती है. ये ऐड काफी चली थी और बाद में थियेटर में फिल्म दिखाने के बीच में भी इस ऐड को दिखाया जाता था.जिसके बाद एक बड़ा विवाद खड़ा हो गया था. मुकेश खन्ना ने खुद इस बात का जिक्र करते हुए बताया कि जब एक थियेटर में उनकी ऐड चली तो उस दौरान अमिताभ बच्चन अपने दोस्तों के साथ मूवी देख रहे थे। अमिताभ बच्चन थियेटर में बैठकर पॉपकॉर्न खा रहे थे और जैसे ही मुकेश खन्ना की ऐड चली उनके मुह से निकल गया साला कॉपी करता है।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि अमिताभ बच्चन उस समय सबसे बड़े स्टार थे तो जाहिर सी बात है कि उनकी कही बात सुर्खियों में तो आनी थी. मीडिया में जब ये खबर फैली तो इस बात का सीधा असर मुकेश खन्ना के करियर पर पड़ा. उन्हें फिल्मे मिलना बंद हो गयी लेकिन मुकेश खन्ना को इस बात पर यकीन नही हुआ था तो उन्होंने उसी शख्स से दोबारा पूछा – क्या सच में अमिताभ बच्चन ने उनके लिए ये बात कही थी ? उस शख्स ने फिर से जवाब दिया – हां ! इसके बाद मुकेश खन्ना की लगातार 4 फिल्मे फ्लॉप रही और लोगो ने उन्हें ये कहकर ट्रोल करना शुरू कर दिया कि ये तो अमिताभ बच्चन की कॉपी करता है. अमिताभ बच्चन के 3 शब्दों ने मुकेश खन्ना का करियर बर्बाद कर दिया.वे एक फ्लॉप हीरो बनकर रह गये थे.

इसके बाद मुकेश खन्ना ने टीवी सीरियल की ओर मुख किया और एक अच्छे एक्टर बनकर सामने आये. मुकेश खन्ना को टीवी इंडस्ट्री में काफी ज्यादा इज्जत मिली और लोगो ने उन्हें बहुत पसंद किया। मुकेश खन्ना का सपना था कि वे फिल्मो में एक बड़ा एक्टर बनकर सामने आये लेकिन अमिताभ बच्चन की वजह से उनका सपना अधुरा रह गया. जहाँ एक ओर अमिताभ बच्चन आज भी फिल्मो में काम करके लाइम लाइट में बने हुए है वहीँ दूसरी ओर मुकेश खन्ना अपनी बातो की वजह से लाइम लाइट में बने रहते है। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्‍या प्रतिक्रियायें है? कमेंट बॉक्‍स में अवश्‍य लिखें। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

हाजी गल्ला पर योगी आदित्यनाथ का टुटा कहर, करोड़ों की संपत्ति हुई जब्त…

दोस्तों दुनिया में जितनी तेजी से आबादी बढ़ रही है .उतनी ही तेजी से बेरोजगारी और क्राइम भी बढ़ता जा रहा है . लोग अपनी जरूरते पूरी करने के लिए अपराध दुनिया में कदम रख देते है और चोरी -चकारी और लूटपाट करने लगते है .और चोरी किये सामान को बड़े बाज़ार में बेच देते है जन्हा चोरी के सामान का उच्च स्तर पर गौरख धंधा किया जाता है .लेकिन ऐसा काम करने वाले लोगो को अब सतर्क होने की आवश्यकता है .क्योंकि अब उनका समय खत्म होगया है .

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ लगातार जन हित में कार्य कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश में अब कानून का राज चल रहा है। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ अनुचित कार्य करने वाले के लिए जीरो टॉलरेंस की नीति अपना रहे हैं। यही वजह है कि जो भी अनुचित काम करने वाले लोग समाजवादी पार्टी की सरकार में फल फूल रहे थे। उन्हें अब उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हवालात की हवा खिला रहे हैं। इन दिनों उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उन लोगों के बारे में जानकारी देने वालों के लिए इनाम भी जारी कर रहे हैं। जो लोग उत्तर प्रदेश में अनुचित कार्य करते हैं। आइए आपको पूरी खबर विस्तार से बताते है।

योगी आदित्यनाथ सरकार ने हाजी गल्ला की संपत्ति हुई ज ब्त

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेरठ के हाजी गल्ला उर्फ हाजी नईम की कुल 10 करोड़ की संपत्ति को सरकारी खजाने में शामिल करने का निर्णय लिया है। बीते शनिवार यानी 23 अक्टूबर को मेरठ पुलिस को जिला अधिकारी द्वारा कहा गया था कि वह हाजी गल्ला के बंगले के साथ ही साथ उनके संपत्ति को ज ब्त कर ले। आपको बता दें कि हाजी गल्ला के बंगले की कीमत लगभग 4 करोड़ 10 लाख रुपए है। सिर्फ इतना ही नहीं है सरकार द्वारा उनके बैंक खातों को भी सी ज कर दिया गया है अब वे अपने बैंक खाते से पैसे नहीं निका ल सकेंगे।

राकेश ने ट्वीट कर दी जानकारी

राकेश ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के माध्यम से ट्वीट कर मामले की जानकारी दी है। राकेश ट्वीट करते हुए इस बात की जानकारी दे रहे हैं कि उत्तर प्रदेश के मेरठ में रहने वाले हाजी गल्ला के पास हर तरह की गाड़ियां आती थी और वह उन गाड़ियों को अच्छे पैसे में खरीद बेच कर लेते थे। साथ ही साथ उन्होंने इस बात की भी जानकारी दी है कि हाजी गल्ला कई अन्य तरह की भी काम करते थे। राकेश अपने ट्वीट में सारी जानकारी दे रहे हैं आप ट्वीट देख कर भी अन्य जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

सोशल मीडिया यूजर्स योगी सरकार की कर रहे हैं सराहना

कई सोशल मीडिया यूजर्स योगी सरकार की सराहना कर रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग यह भी सवाल करते नजर आ रहे हैं कि आखिर इस तरह के काम में एक विशेष समुदाय के लोग ही क्यों शामिल होते हैं। हम आपके लिए कुछ ट्वीट्स संलग्न कर रहे हैं। जिसे देखने के बाद आप सहमत हो जाएंगे कि आखिर किस तरह से सोशल मीडिया यूजर्स योगी सरकार की सराहना कर रहे हैं। तो वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग सवाल भी करते नजर आ रहे हैं।

आज से आपकी जिंदगी में होने वाले है ये 5 बदलाव,आपकी जिंदगी पर होगा सीधा असर

दोस्तों 1 नवम्बर 2021 यानि आज से देश में कई बड़े बदलाब होने जा रहे है . इन बदलावों का सीधा असर आम जनता के जीवन और जेब पर पड़ने वाला है . आज से होने वाले बदलावों और उस से जुड़े नियमो के बारे में यदि आपको जानकारी नही है तो खबर को अंत तक पढ़े ताकि पहले से आपको नियमों की जानकारी हो .और बाद में आपको कोई परेशानी न हो.

1 नवंबर से बैंकों में पैसा जमा करने से लेकर पैसे निकालने तक का चार्ज लगेगा. वहीं, रेलवे के टाइम टेबल में भी बदलाव होगा. इसके अलावा गैस सिलेंडर बुकिंग के नियमों में बड़ा बदलाव होने जा रहा है. आइए ऐसी कुछ बातों पर नजर डालते हैं, जो 1 नवंबर से बदलने जा रही हैं.

1. रसोई गैस सिलेंडर की कीमत

1 नवंबर से रसोई गैस सिलेंडर की कीमतों में बदलाव हो सकती है. बता दें कि LPG की कीमतों (LPG price) में बढ़ोतरी की जा सकती है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, LPG की बिक्री पर होने वाले नुकसान को देखते हुए, सरकार एक बार फिर एलपीजी सिलेंडर की कीमतों को बढ़ा सकती है.

2. बैंकिंग नियमों में होगा बदलाव

अब बैंकों को अपना पैसा जमा करने और निकालने पर चार्ज देना होगा. बैंक ऑफ बड़ौदा (BoB) ने इसकी शुरुआत की है. अगले महीने से निर्धारित सीमा से अधिक बैंकिंग करने पर अलग से शुल्क लगेगा. 1 नवंबर से ग्राहकों को लोन खाते के लिए 150 रुपये चुकाने होंगे. खाताधारकों के लिए तीन गुना तक जमा करना मुफ्त होगा, लेकिन अगर ग्राहक चौथी बार पैसा जमा करते हैं, तो उन्हें 40 रुपये का भुगतान करना होगा. वहीं जनधन खाताधारकों को इसमें कुछ राहत मिली है, उन्हें जमा करने पर कोई शुल्क नहीं देना होगा, बल्कि निकासी पर 100 रुपये देने होंगे.

3. बदलेगा ट्रेनों का टाइम टेबल

भारतीय रेलवे (Indian Railway) देशभर में ट्रेनों के टाइम टेबल में बदलाव करने जा रहा है. पहले 1 अक्टूबर से ट्रेनों के टाइम टेबल में बदलाव होने वाला था, लेकिन किन्हीं कारणों से 31 अक्टूबर की तारीख आगे तय की गई है. अब 1 नवंबर से नई समय सारिणी लागू की जाएगी. इसके बाद 13 हजार यात्री ट्रेनों के समय और 7 हजार मालगाड़ी के समय बदलेंगे. देश में चलने वाली करीब 30 राजधानी ट्रेनों का समय भी 1 नवंबर से बदल जाएगा.

4. गैस सिलेंडर की बुकिंग के लिए देना होगा OTP

1 नवंबर से रसोई गैस सिलेंडर (LPG Cylinder) की डिलीवरी की पूरी प्रक्रिया बदलने जा रही है. गैस बुकिंग के बाद ग्राहकों के मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी भेजा जाएगा. जब सिलेंडर डिलीवरी के लिए आएगा तो आपको इस ओटीपी को डिलीवरी बॉय के साथ शेयर करना होगा. एक बार इस कोड का सिस्टम से मिलान हो जाने पर ग्राहक को सिलेंडर की डिलीवरी ही मिलेगी.

5. Whatsapp हो जाएगा बंद

1 नवंबर से कुछ आईफोन और एंड्रॉयड फोन्स पर 1 नवंबर से व्हाट्सऐप काम करना बंद कर देगा. व्हाट्सऐप पर दी गई जानकारी के मुताबिक, 1 नवंबर से फेसबुक के स्वामित्व वाला प्लेटफॉर्म एंड्रॉयड 4.0.3 Ice Cream Sandwich, iOS 9, और KaiOS 2.5.0 को सपोर्ट नहीं करेगा.

बालिका वधू की आनंदी बड़ी होकर दिखती है इतनी हॉट कि दे रही हर मॉडल को मात

दोस्तों पुराने समय से बाल विवाह की प्रथा चलती आ रही है .और अभी भी देश के कुछ हिस्सों में बाल विवाह कराए जाते है . इसी प्रथा के बारे में टीवी पर कलर्स चैनल पर प्रसारित होने वाले धारावाहिक बालिका वधु में बताया गया है .जिसमे बालिका वधु आनंदी का किरदार अविका गौर ने निभाया था .जिसमे छोटी सी आयु में आनंदी का विवाह कर दिया जाता है और उस पर ससुराल में घर -गृहस्थी की जिम्मेदारी डाल दी जाती है .अविका गौर ने आनंदी के किरदार को बखूबी निभाया और लोगो का दिल जीत लिया .

इसकी बड़ी वजह थी आनंदी का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस अविका गौर। जुड़ी हुई भौहें और गोलू-मोलू सा चेहरा, हम सभी को अविका में अपने घर की ही कोई बेटी नज़र आती थी। 8 साल की छोटी सी उम्र ही अविका एक बेहतरीन एक्टर थीं जिसने आनंदी के किरदार को यादगार बना दिया। फिर जब शो ने कुछ सालों की लीप ली, आनंदी का किरदार प्रत्युषा बैनर्जी निभाने लगीं। मेरी मम्मी और दादी समेत बहुत से ऐसे लोग होंगे जिन्होंने अविका गौर के चले जाने के बाद ‘बालिका वधु’ देखना ही छोड़ दिया। 

ऐसे लोग अगर अब अविका गौर को देखेंगे तो पहचान ही नहीं पाएंगे। वजह ये कि अविका ने बहुत वज़न घटा लिया है और अब वो किसी भी सुपर मॉडल को टक्कर दे सकती हैं। अविका अभी सिर्फ 22 साल की हैं। उन्होंने 2008 में छोटी सी उम्र में ‘बालिका वधु’ के ज़रिए एक्टिंग करियर की शुरुआत की । उन्होंने 2011 तक इस शो में अपना सबसे आइकोनिक किरदार निभाया। 2011 में उन्होने एक और मशहूर शो ‘ससुराल सिमर का’ में मुख्य किरदार सिमर की छोटी बहन रोली का किरदार निभाया।  

रोली के किरदार को निभाते हुए भी अविका टीनएजर ही थीं लेकिन उन्होंने यहां अपनी उम्र से बड़ी एक शादीशुदा लड़की का किरदार भी निभाया। इस शो में अविका के अपोजिट एक्टर मनीष रायसिंह थे। शो के दौरान ही दोनों के अफेयर की ख़बरें थीं। लेकिन इन दोनों ने ही सिर्फ अच्छे दोस्त होने की ही बात कही। अब अपनी बेस्ट फ्रेंड अविका के बर्थडे पर मनीष रायसिंह ने अपनी गर्लफ्रेंड संगीता चौहान से शादी कर ली है ।

इसके बाद अविका ने साउथ की फिल्मों और सीरियल्स की तरफ रुख किया। उन्होंने कुल मिलाकर 10 से ज़्यादा तेलगु और कन्नड़ फिल्मों में काम किया है। अविका ‘झलक दिखला जा’ रियलिटी शो के सीज़न 5 में कंटेस्टेंट भी थीं। अभी 2019 में हुए ‘खतरों के खिलाड़ी’ में भी उन्होंने पार्ट लिया था। इसकी तैयारी के दौरान ही उन्हें फिटनेस का चस्का लगा। उन्होंने अपनी डाइट पर खूब मेहनत की। साथ ही वो डांस और मार्शल आर्ट्स की भी ट्रेनिंग ले रही हैं। 

इसका बेहतरीन नतीजा आपको उनकी इंस्टाग्राम फोटोज़ में साफ़ नज़र आएगा। चाहे इंडियन हो या वेस्टर्न, अविका हर तरह की ड्रेसेज़ में खूबसूरत और बेहद स्टाइलिश नज़र आती हैं। उन्होंने अपनी जुड़ी हुई भौहों को थ्रेड करवा लिया है और उनके घुंघराले बाल जो उनकी पहचान हुआ करते थे अब सीधे हो गए हैं। गोलू-मोलू सी आनंदी अब सुपर स्लिम हो गई हैं लेकिन फिर भी उनका वो क्यूट रूप हम बहुत मिस करते हैं।

बेकार हो गए भारत के सारे 5G फ़ोन,खरीदने वाले हुए बर्बाद

मित्रों जैसा की आप सभी अवगत ही होगें कि समय समय पर नयी – नयी खोजें होती रहती है इसी कड़ी में दूरसंचार कंपनियों ने 5G पर काम प्रारंभ किया था और और आश्वासन दिया था कि 2021 के अंत तक लोगों की जेब में 5G सपोर्ट करने वाले फ़ोन होंगे पर ऐसा सच होता नज़र नहीं आ रहा है यहाँ तक सन 2022 में भी आसार नजर नहीं आ रहे है जिससे उन यूजर्स को झटका लगने वाला है जिन्होंने इस आस में 5G सपोर्टेड फ़ोन्स को खरीद लिया है। अगर आपने भी 5G सपोर्टेड फ़ोन्स ले लिया है, तो ये खबर आपके लिये है।

आपको बता दें कि 2021 अपने अंतिम पड़ाव पर पहुॅंच चुका और 5जी शब्द अभी भी इंडियन Smartphone मार्केट तथा Telecom इंडस्ट्री में हॉट टॉपिक बना हुआ है। आम जनता में इंतजार और उत्साह दोनों है कि कब उन्हें 5G Network यूज़ करने को मिलेगा और वह High Speed 5G Internet का मजा उठा पाएंगे। इस चाव के चलते अनेंको लोग 5G Smartphone खरीद भी चुके हैं। लेकिन ऐसे यूजर्स को बड़ा झटका लगा है क्योंकि 5जी चलाने के लिए खरीदे गए ये मोबाइल फोन अभी तो पूरी तरह से बेकार है ही वहीं अब आने वाले साल 2022 में भी भारत में 5जी ना चलने के आसार नज़र आ रहे हैं। देश में 5जी ट्रॉयल्स अभी पूरी तरह से सफल नहीं हुए हैं और टेलीकॉम कंपनियों ने भारत सरकार से 5G Trials पूरे करने के लिए एक साल की और मोहलत मांगी है। इन कंपनियों में Reliance Jio, Bharti Airtel और Vodafone Idea तीनों शामिल है। यानी जब तक ये ट्रायल और टेस्टिंग पूरी तरह से संपन्न नहीं हो जाते तब तक आम जनता को 5G यूज़ करने के लिए नहीं दिया जा सकता है।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि पहले इन ट्रॉयल्स को कम्पलीट करने की आखिरी तारीख नवंबर 2021 तय की गई थी। पर दूरसंचार कंपनियां समय पर ट्रॉयल्स पूरा करने में विफल साबित हुई है। देश में 90 प्रतिशत से भी अधिक मोबाइल यूजर इन तीन कंपनियों के नेटवर्क के साथ जुड़े हैं और ऐसे में यह साफ हो गया है कि अभी इंडियन्स को 5जी मिलने में देरी लगेगी। ऐसे में Xiaomi, Realme और OPPO, Vivo जैसे नामों से लेकर Samsung, OnePlus व Nokia जैसे ब्रांड्स भी इंडिया में अपने 5जी स्मार्टफोन लॉन्च कर रहे हैं। ये 5G Phone मार्केट में हर बजट में उपलब्ध हो चुके हैं और उपभोक्ता भी नई और एडवांस टेक्नोलॉजी तथा 5जी नेटवर्क के लालच में आकर इन मोबाइल फोंस को खरीद रहे हैं। यहां हम साफ शब्दों में कहना चाहते हैं कि 5जी चलाने के लिए खरीदे गए ये स्मार्टफोन फिलहाल भारत में पूरी तरह से बेकार है। जब तक आप तक 5जी नेटवर्क पहुॅंचेगा, तब तक ये मोबाइल फोन खराब भी हो चुके होंगे और टेक्नोलॉजी व फीचर्स के मामले में पुराने और आउट डेटेड हो चुके होंगे।

आज बेशक ट्रेंड को फॉलो करते हुए मोबाइल कंपनियां कम कीमत पर 5जी स्मार्टफोन लॉन्च कर रही है लेकिन यह सच है कि ऐसे मोबाइल फोंस को खरीदने के बेहतर है कि एक अच्छा 4जी फोन ही खरीदा जाए। कम दाम में 5जी फोन लाने के चक्कर में इन स्मार्टफोंस में फीचर्स और स्पेसिफिकेशन्स से समझौता किया जा रहा है। इन फोन में 5जी तो चलता नहीं हैं वहीं साथ में अन्य स्पेसिफिकेशन्स भी फीकी पड़ जाती है। इनकी तुलना में 4जी स्मार्टफोन बेहतर फीचर्स और दमदार स्पेसिफिकेशन्स से लैस होते हैं। इसीलिए बेस्ट ऑप्शन यही है कि 5G फोन की बजाय एक अच्छा 4G स्मार्टफोन खरीदा जाए। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्‍या प्रतिक्रियायें है? कमेंट बॉक्‍स में अवश्‍य लिखें। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

नफीसा ही नही रशीद मिया भी कर रहे थे पा’क जिंदाबाद, अब पु’लिस कर रही ठुकाई..

दोस्तों अपने देश के जीत की ख़ुशी किसको नहीं होती है और देश का हर एक नागरिक अपनी ख़ुशी को अपने अंदाज से बयां करता है लेकिन कुछ ऐसे भी लोग है जिनको अपने देश से ज्यादा दुश्मन देश की जीत की ख़ुशी होती है और वो अपनी खुसी जाहिर करते है ऐसे ही कुछ लोग है जैसे जोधपुर के पीपाड़ सिटी के रशीद अब्दुल उदयपुर की टीचर नफीसा अटारी की तरह उसने भी WhatsApp पर स्टेट्स लगा दिया, बाद में उसका यह स्टेट्स और चैट का स्क्रीन शॉट वायरल हो गया, मामले की लिखित शिकायत होने पर पुलिस ने रशीद को गिरफ्तार कर जेल भेजा और कोर्ट ने जमानत की अर्जी ख़ारिज कर दी आइये जानते है क्या है पूरा मामला….

दरअसल टी-20 वर्ल्ड कप में भारत की हार और पाकिस्तान की जीत से केवल उदयदपुर की टीचर नफीसा अटारी ही नहीं बल्कि और भी कई लोगों ने खुशियां मनाई है, उदयपुर के जैसा ही एक मामला जोधपुर में भी सामने आया है. यहां के युवक रशीद अब्दुल्ल ने भी पाकिस्तान की जीत के बाद इसे सेलिब्रेट करने वाला स्टेट्स लगाया. बाद में किसी के आपत्ति उठाने पर उसने कहा कि मैं आज बहुत खुश हूं. लेकिन उसका यह सेलिब्रेशन उस पर भारी पड़ गया. युवक के खिलाफ मामला दर्ज होने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया. बाद में कोर्ट ने भी उसे जमानत देने से इनकार करते हुये जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया है।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि यह मामला जोधपुर के पीपाड़ शहर से जुड़ा है. गत रविवार को टी-20 वर्ल्ड कप में हुये भारत-पाक के मैच में पाकिस्तान की जीत के बाद पीपाड़ शहर निवासी रशीद अब्दुल्ल ने अपने व्हाट्सएप स्टेट्स पर इस जीत की खुशी का इजहार किया. उसके स्टेट्स को टैग करके एक अन्य युवक ने पूछा… क्या हुआ खुशी क्यों मना रहे हो भारत हार गया इसलिए क्या ? इस पर रशीद अब्दुल ने जो जवाब दिया वह चौंकाने वाला था. उसने जवाब में लिखा कि हां…बहुत हैप्पी हूं….आज तो. उसके बाद सवाल पूछने वाले ने इसका जवाब दिया कि तो फिर यहां क्यों रहते हो …? आपको बता दें कि सोशल मीडिया पर दोनों युवकों की हुई बातचीत का स्क्रीन शॉट बाद में वायरल हो गया तो पीपाड़ में इस मामले को लेकर लोगों में आक्रोश फैल गया. उसके बाद महेंद्र टाक नामक युवक ने पीपाड़ थाने में इसको लेकर एक परिवाद दिया. इस पर पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया. वहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया।